मुर्गे की कलेजी खाने के फायदे, बनाने के बेस्ट तरीका

मुर्गे की कलेजी खाने के फायदे : अगर आप मांसाहारी भोजन करना पसन्द करते है और चिकेन ज्यादा से ज्यादा खाते है ऐसे देखा जाये तो चिकेन खाने से हमारे शारीर में कई प्रकार के लाभ देखने को मिलते है बहुत सारे लोग मुर्गे की लेग खाना अधिक पसंद करते है लेकिन आपको बता दे की चिकेन लेग के अलावा भी अगर मुर्गे की कलेजी खाए तो इसका भी अधिक फायदे है।

मुर्गे की कलेगी बिटामिन, कैल्सियम, आयरन से भरपूर होता है यह आपके आँखों और दिमाग के लिए काफी लाभदायक होता है वही कैल्सियम हड्डियाँ और दांतों को मजबूत बनाता है फाईबार और आयरन की वजह से यह हमारे दिल के लिए भी काफी अच्छा होता है।

बहुत सारे लोग चिकेन की कलेगी खाना पसंद नहीं करते है क्योकि इसका स्वाद कुछ खास नहीं होता है लेकिन हम आपको बता दे की चिकेन की कलेगी खाने के अनेको फायदे है जो आपको अन्य चिकेन के भाग में देखने को नहीं मिलती है मुर्गे की कलेजी खाने के फायदे क्या क्या है तो आप सही लेख पर है यहाँ इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी देंगे।

मुर्गे-की-कलेजी-खाने-के-फायदे

मुर्गे की कलेजी खाने के फायदे

मुर्गे की कलेजी (लिवर) भी पोषक तत्वों से भरपूर होती है और सही तरीके से पकाई जाए, तो इसका सेवन स्वस्थ आहार का एक हिस्सा बन सकता है। मुर्गे की कलेजी खाने के कुछ फायदे निम्नलिखित हैं:

  1. पौष्टिकता :- मुर्गे की कलेजी में प्रोटीन, विटामिन A, विटामिन B12, फोलिक एसिड, आयरन, जिंक, और सेलेनियम जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। यह त्वचा, बाल, नाखूनों, रक्त संचयन, और शरीर की अन्य ऊर्जा के लिए महत्वपूर्ण हैं।
  2. विटामिन B12 का स्रोत :- मुर्गे की कलेजी विटामिन B12 का अच्छा स्रोत होती है, जो न्यूरोनल नेटवर्क को स्वस्थ रखने में मदद करता है, और साथ ही डीएनए और रीबोन्यूक्लिक एसिड का निर्माण सहायक होता है।
  3. आयरन स्रोत :- कलेजी में मौजूद आयरन रक्त बनाने में मदद करता है, जो एनीमिया (हीमोग्लोबिन की कमी) के लिए फायदेमंद होता है।
  4. शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ावा :- सेलेनियम और विटामिन E का उच्च स्तर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है जो विषाणुओं और बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करता है।
  5. एमिनो एसिड :- मुर्गे की कलेजी में अनेक प्रकार के एमिनो एसिड पाए जाते हैं जो शरीर के ऊर्जा स्तर को बनाए रखने में मदद करते हैं और शरीर के मांसपेशियों का निर्माण करते हैं।

ध्यान देने योग्य बातें :-

  • मुर्गे की कलेजी को अच्छी तरह से पकाकर खाएं और अधिक मसालेदार बनाने से बचें, ताकि पोषक तत्व नष्ट न हों।
  • अधिकतर लोग इसे फ्राइड या ग्रिल करके खाते हैं, लेकिन अधिक मसालेदार या तला हुआ खाना सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है, इसलिए इसे मात्राशीत और सावधानीपूर्वक खाएं।
  • अधिक मात्रा में मुर्गे की कलेजी खाने से बचें, क्योंकि इसमें अधिक आयरन हो सकता है जिससे एक्सेसिव खून के होने का खतरा हो सकता है।
  • गर्भवती महिलाएं, बच्चों, और वृद्ध व्यक्तियों को कलेजी खाने से पहले चिकित्सक से परामर्श करना उचित होता है।

मुर्गे की कलेजी बनाने का बेस्ट तरीका


मुर्गे की कलेजी एक लाजवाब और पौष्टिक व्यंजन है जिसे बनाने में आसानी से मिनटों में तैयार किया जा सकता है निम्नलिखित है, मुर्गे की कलेजी बनाने का सरल विधि यहाँ बताया गया है।

सामग्री:

  • मुर्गे की कलेजी (अगर वह साफ की गई हो, तो बेहतर होता है): 250 ग्राम
  • प्याज़ (बारीक कटा हुआ): 1 मध्यम आकार का
  • टमाटर (बारीक कटा हुआ): 1 मध्यम आकार का
  • हरी मिर्च (बारीक कटी हुई): 1 छोटी
  • अदरक-लहसुन का पेस्ट: 1 छोटी चम्मच
  • हल्दी पाउडर: 1/4 छोटी चम्मच
  • धनिया पाउडर: 1 छोटी चम्मच
  • गरम मसाला पाउडर: 1/2 छोटी चम्मच
  • तेल: 2 छोटे चम्मच
  • घी: 1 छोटा चम्मच
  • कटी हुई हरा धनिया (गार्निश के लिए): 1 छोटी चम्मच
  • नमक: स्वादानुसार
  • पानी: 1/4 कप

विधि:

  1. सबसे पहले, मुर्गे की कलेजी को धो लें और अच्छी तरह से साफ कर लें, उसे छोटे टुकड़ों में काट लें।
  2. एक कढ़ाई में तेल और घी गरम करें, उसमें प्याज़ डालें और उन्हें सुनहरा होने तक तलें।
  3. अब उसमें अदरक-लहसुन का पेस्ट डालें और उसे भूनें, ताकि उसकी खुशबू निकले।
  4. अब टमाटर, हरी मिर्च, हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर, गरम मसाला पाउडर, और नमक डालें। सभी मसालों को अच्छी तरह से मिला लें।
  5. मसाले को मिलाने के बाद, अब मुर्गे की कलेजी को डालें और उसे अच्छी तरह से भूनें।
  6. मुर्गे की कलेजी को मिलाए जाने तक भूनना है, जिससे वह पकने लगे और टूकड़ों को आसानी से कटा जा सके।
  7. जब मुर्गे की कलेजी पक जाए, तो उसमें थोड़ा सा पानी डालें और उसे तैयार होने तक धीमी आंच पर पकने दें।
  8. स्वादानुसार नमक का अनुपात समायें और धनिया पत्ती से सजाकर गरमा गरम परोसें।

आपकी स्वादिष्ट मुर्गे की कलेजी तैयार है! इसे रोटी, नान, चावल या परांठे के साथ खा सकते है।

Conclusion

उम्मीद करता हूँ की आपको मुर्गे की कलेजी खाने के फायदे के बारे में सही जानकारी मिली होगी, अगर आपको यह पोस्ट अच्छा आगे तो हेल्थ सहायता ब्लॉग को विजित करते रहिये क्योकि यहाँ आपको हेल्थ से जुड़ी समस्याओ का इलाज की जानकारी दी जाती है।

Leave a Comment